सिंगल इनहेरीटेन्स (Single Inheritance)

सिंगल इनहेरीटेन्स में एक पेरेन्ट तथा एक चाईल्ड क्लास होती है। इस चाईल्ड क्लास में पेरेन्ट क्लास की प्रोपर्टीज़ का प्रयोग किया जा सकता है।

इसका प्रारूप निम्नानुसार होता है -

class A
	{
		variable declaration;
		method declaration;
	}
	class B extends A
	{
		variable declaration;
		method declaration;
	}

नीचे दिए गए उदाहरण में एक क्लास A है जिसमें एक मैथड get(...) वेरिएबलों में वैल्यू प्रदान करने के लिए तथा दूसरा मैथड put( ) इन वेरिएबलों को प्रिन्ट करने के लिए बनाया गया है। उदाहरण में एक अन्य क्लास B बनाई गई है जिसमें A क्लास को इनहेरीट किया गया है। B क्लास के मैथडtot( ) द्वारा A क्लास के वेरिएबलों का योग किया गया है तथा show( ) मैथड द्वारा इस योग को प्रिन्ट किया गया है। । तथा B क्लास के मैम्बर्स का प्रयोग करने के लिए main( ) मैथड में केवल B क्लास का आॅब्जेक्ट बनाया गया है।

class A
{
  int a, b;
  void get(int x, int y)
  {
    a = x; b = y;
  }
  void put()
  {
    System.out.println("a = " + a);
    System.out.println("b = " + b);
  }
}
class B extends A
{
  int t;
  void tot()
  {
    t = a + b;
  }
  void show()
  {
    System.out.println("Total = " + t);
  }
}
class Demo
{
  public static void main(String arr[])
  {
    B ob=new B();
    ob.get(70, 80);
    ob.put();
    ob.tot();
    ob.show();
  }
}

Output:

a = 70
b = 80
Total = 150
सुझाव / कमेंट