जावा का इतिहास

सन् 1990 में सन माइक्रोसिस्टम ने डिजीटल घरेलू उपकरणों जैसे एयर कंडीशनर आदि में काम आने वाले साॅफ्टवेयर्स के विकास के लिए एक संपूर्ण आॅब्जेक्ट ओरिएन्टेड प्रोग्रामिंग भाषा का विकास करना प्रारम्भ किया। इस भाषा के निर्माण में जेम्स गोस्लिंग, बिल जाॅय, पैट्रिक नाॅथटन आदि शामिल थे तथा इस प्रोजेक्ट का नाम ग्रीन प्रोजेक्ट रखा गया.

  • सन् 1991 में इस भाषा का पहला संस्करण आया जिसका नाम Oak रखा गया. यह नाम जेम्स गोसलिंग की खिड़की के बाहर वाले पेड़ के नाम पर रखा गया था.
  • सन् 1992 में इस भाषा का निर्माण करने वाली टीम ने टच स्क्रीन उपकरण का प्रदर्शन किया.
  • सन् 1994 में इस टीम ने HotJava नाम के एक वेब ब्राउज़र का निर्माण किया.
  • सन् 1995 मेे इस भाषा का नाम Oak से बदल कर Java रख दिया गया क्योंकि Oak नाम की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज पहले से मौजूद थी. यह नाम प्रसिद्ध जावा कॉफ़ी के नाम पर रखा गया है.

क्योंकि जावा एक सुदृड़ तथा स्वतंत्र प्लेटफाॅर्म (platform independent) प्रोग्रामिंग भाषा थी अतः इसका विस्तार बहुत तेज़ी से हुआ तथा आज भी यह विश्व में सबसे अधिक काम में ली जाने वाली प्रोग्रामिंग भाषा है.

सुझाव / कमेंट