पहला प्रोग्राम

सभी जावा प्रोग्राम्स को दो भागों में बांटा जा सकता है – एप्लीकेशन तथा एप्लेट. एप्लीकेशन को कमांड (DOS) प्रोम्प्ट पर रन किया जाता है जबकि एप्लेट को ब्राउज़र में रन कराया जाता है. जावा एप्लीकेशन को बनाने के तीन चरण होते हैं –

  • सोर्स कोड (प्रोग्राम) लिखना
  • प्रोग्राम को कम्पाइल करना
  • प्रोग्राम को रन करना

जावा का प्रोग्राम किसी भी टैक्स्ट एडिटर (text editor) में बनाया जा सकता है, जैसे नोटपैड, सुब-लाइम, जे-क्रिएटर, एकलिप्स आदि। सरलता को देखते हुए निम्नलिखित प्रोग्राम को हम विंडोज़ के नोटपैड में बना रहे हैं.

प्रोग्राम बनाने के लिए सबसे पहले कमांड प्रोम्प्ट पर जाएं। कमांड प्रोम्प्ट पर जाने के लिए start > run पर क्लिक कर cmd टाइप कर OK पर क्लिक करें।

इससे निम्नानुसार विंडो प्रदर्शित होगी. यहाँ आप notepad Demo.java लिख कर एंटर बटन प्रेस कर दीजिये.

अब नोटपैड विंडो में निम्नानुसार प्रोग्राम लिख लीजिये. प्रोग्राम को आगे विस्तार से समझाया गया है.

public class Demo
{
  public static void main(String arr[])
  {
     System.out.println("Hello");
     System.out.println("There!!!");
  }
}ऑनलाइन रन करें.

नोटपैड में प्रोगाम बना लेने के बाद उसे सेव करें।

अब प्रोग्राम को कंपाइल करने के लिए निम्नलिखित कमांड दीजिएः

C:\Users\lenovo>javac Demo.java

कम्पाइल करने के बाद प्रोग्राम को रन करने के लिए इन्टरप्रेट करना होता है। इसके लिए निम्न कमाण्ड देें व आउटपुट देखें-

C:\Users\lenovo>java Demo	
Hello
There!!!

उपरोक्त प्रोग्राम को विस्तार से समझें -

public class Demo

चूंकि जावा एक आॅब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है अतः प्रत्येक प्रोग्राम में क्लास का होना आवश्यक है. उपरोक्त उदाहरण में क्लास का नाम Demo है जिसमें main मैथड को बनाया गया है.

public static void main(String arr[ ])

यह मैथड C/C++ के main फंक्शन की तरह ही होता है। जावा में प्रत्येक प्रोग्राम में main मैथड का होना आवश्यक (एप्लेट को छोड़कर) है।
जावा इन्टरप्रेटर, main मैथड से ही प्रोग्राम का एग्ज़िक्यूशन शुरु करता है। जावा प्रोग्राम में एक से अधिक क्लास हो सकती हैं लेकिन केवल एक ही क्लास में main मैथड का प्रयोग किया जा सकता है।
main मैथड का प्रयोग करते समय निम्न कीवर्डस् का प्रयोग किया जाता है -

  • public: पब्लिक एक ऐक्सेस स्पेसिफायर होता है जो कि यह प्रदर्शित करता है कि main मैथड unprotected है तथा इसे दूसरी क्लास द्वारा इसे प्रयोग में लिया जा सकता है।
  • static: स्टैटिक कीवर्ड यह प्रदर्शित करता है कि main मैथड किसी विषेश आॅब्जेक्ट से संबंधित न होकर पूरी क्लास से संबंधित है। ऐसे मैथड जो static नहीं होते हैं, उन्हें प्रयोग में लेने के लिए संबंधित क्लास का आॅब्जेक्ट बनाना आवश्यक होता है। वहीं static मैथड को प्रयोग में लेने के लिए किसी आॅब्जेक्ट की आवश्यकता नहीं है।
  • void: यह एक टाईप माॅडिफायर है जो कि यह प्रदर्शित करता है कि main मैथड कोई वैल्यू रिटर्न नहीं करेगा।
  • String arr[ ]: जावा प्रोगाम को रन करते समय प्रोग्राम में इनपुट के लिए कमांड लाइन से भी वैल्यू प्रदान की जा सकती है। इन वैल्यू को arr[ ] में स्टोर किया गया है। इस वैल्यू का डेटा टाइप हमेशा स्ट्रिंग होता है।

System.out.println("Hello");

यह स्टेटमेंट 'C' के printf तथा C++ के cout<< के समान ही कार्य करती है। चूंकि जावा एक OOP लैंग्वेज है अतः प्रत्येक मैथड किसी आॅब्जेक्ट का भाग होना चाहिए। println( ) मैथड, स्टेटिक आॅब्जेक्ट out का मेम्बर है जो कि System क्लास से संबंधित है। यह मैथड संदेश को स्क्रीन पर अलग पंक्ति में दर्शाता है।

print() मैथड

println मैथड, स्क्रीन पर संदेश प्रिन्ट करने के बाद कैरिज रिटर्न को जोड़ देता है। इससे प्रत्येक println( ) के बाद print की जाने वाली वैल्यू अगली लाइन में प्रिंट होती है। जबकि print मैथड ऐसा नहीं करता, इसे समझने के लिए निम्न उदाहरण पर ध्यान दें -

public class First
{
  public static void main(String arr[])
  {
    System.out.print("One");
    System.out.println("Two");
    System.out.print("Three");
  }
}ऑनलाइन रन करें.
Output:
OneTwo
Three

हम प्रोग्राम के आउटपुट को मैसेज बाॅक्स में भी प्रदर्शित करवा सकते हैं। इसके लिए हमें showMessageDialog(...) मैथड का प्रयोग करना होता है जो कि JOptionPane क्लास में मौजूद है। JOptionPane क्लास javax.swing पैकेज में होती है। अतः मैसेज बाॅक्स प्रदर्शित करवाने के लिए हमें प्रोग्राम में सबसे पहले javax.swing पैकेज को इंपोर्ट करना होगा। इसे समझने के लिए निम्न उदाहरण को ध्यान से देखिएः

import javax.swing.*;
public class Demo
{
  public static void main(String arr[])
  {
	JOptionPane.showMessageDialog(null, "Hello World");
  }
}ऑनलाइन रन करें.

उपरोक्त प्रोग्राम को एग्ज़िक्यूट करने के लिए इसे सेव करें (इस उदाहरण में हमने इसे Demo.java नाम से सेव किया है।) तथा एडिटर से बाहर आकर निम्न प्रकार से कम्पाइल करें -

C:\jdk1.7\bin>javac Demo.java

कम्पाइल करने के बाद प्रोग्राम को रन करने के लिए इन्टरप्रेट करना होता है। इसके लिए निम्न कमाण्ड देें -

C:\jdk1.7\bin>java Demo

Output:

सुझाव / कमेंट