क्लास के मैम्बर्स को प्रयोग करना (Using class members)

जब हम किसी क्लास के आॅब्जेक्ट बनाते हैं तो प्रत्येक आॅब्जेक्ट का अपना एक वेरिएबल समूह (set) बन जाता है। उदाहरण के लिए यदि हम एक क्लास My बनाते हैं जिसमें दो वेरिएबल a तथा b हैं तथा इस क्लास के दो आॅब्जेक्ट बनाते हैं जिनका नाम m1 और m2 है तो दोनों आॅब्जेक्ट्स के लिए a तथा b की वैल्यू अलग अलग स्टोर होगी।

किसी क्लास के मैम्बर्स को प्रयोग करने के लिए हम डाॅट ( . ) आॅपरेटर का प्रयोग करते हैं, जैसा कि नीचे दर्षाया गया है -

object.variableName;
object.methodName(parameter list);

m1.a = 10;
m1.put();

नीचे दिए गए उदाहरण में एक क्लास बनाई गई है जिसका नाम My है, इस क्लास में एक वेरिएबल a तथा एक मैथड show को बनाया गया है जिसका कार्य वेरिएबल की वैल्यू को प्रिन्ट करना है। इस क्लास My के आॅब्जेक्ट m को main मैथड में बनाया गया है तथा इस आॅब्जेक्ट द्वारा वेरिएबल a का मान 10 निर्धारित किया गया है, तत्पश्चात् show() मैथड को काॅल किया गया है।

class My	  // User defined class
{
	int a;		//variable declaration
	void show()	// method declaration
	{
		System.out.println("a = " + a);
	}
}
class Demo
{
	public static void main(String arr[])
	{
		My m = new My(); //declaring object of class My
		m.a = 10;
		m.show();
	}
}

Output:

a = 10

नीचे दिए गए उदाहरण में क्लास के variable में आॅब्जेक्ट की सहायता से सीधे वैल्यू न देकर वैल्यू को मैथड get() द्वारा स्टोर किया गया है, इन वैल्यूज़ को दर्षाने के लिए show() मैथड काम में लिया गया है तथा इनका जोड़ करने के लिए tot() मैथड का प्रयोग किया गया है। इन मैथड्स को काॅल करने के लिए क्लास My का आॅब्जेक्ट m बनाया गया है।

class My
{
	int a,b,t;
	void get()
	{
		a = 10;
		b = 20;
	}
	void show()
	{
		System.out.println("a = " + a + "\nb = " + b);
	}
	void tot()
	{
		t = a + b;
		System.out.println("Total = "+t);
	}
}
class Demo
{
	public static void main(String arr[])
	{
		My m = new My();
		m.get();
		m.show();
		m.tot();
	}
}

Output:

a = 10
b = 20
Total = 30

नीचे दिए गए उदाहरण में क्लास My के मैथड get(int x, int y) को main मैथड द्वारा यूज़र से वैल्यूज़ लेकर 'पास' की गई है।

import java.util.*;
class My
{
	int a, b, t;
	void get(int x, int y)
	{
		a = x;
		b = y;
	}
	void show()
	{
		System.out.println("a = " + a + "\nb = " + b);
	}
	void tot()
	{
		t = a + b;
		System.out.println("Total = " + t);
	}
}
class Demo
{
	public static void main(String arr[])
	{
		My m = new My();
		int x, y;
		Scanner ob = new Scanner(System.in);
		System.out.print("Enter 1st no. ");
		x = ob.nextInt();
		System.out.print("Enter 2nd no. ");
		y = ob.nextInt();
		m.get(x, y);
		m.show();
		m.tot();
	}
}

Output:

Enter 1st no. 5
Enter 2nd no. 4
a = 5
b = 4
Total = 9

नीचे दिए गए उदाहरण में एक आयत का क्षेत्रफल ज्ञात करने के लिए एक क्लास बनाई गई है-

class My
{
	int l, b;
	void get(int x, int y)
	{
		l = x;
		b = y;
	}
	void show()
	{
		System.out.println("Length = " + l);
		System.out.println("Breadth = " + b);
	}
	int area()
	{
		return(l * b);
	}
}
class Demo
{
	public static void main(String arr[])
	{
		My m = new My();
		m.get(10, 20);
		m.show();
		int a = m.area();
		System.out.println("Area of Rect. = " + a);
	}
}

Output:

Length = 10
Breadth = 20
Area of Rect. = 200

सामान्यतया एक क्लास के सभी वेरिएबल तथा मैथड, क्रमशः इन्सटैन्स वेरिएबल तथा इन्सटैन्स मैथड कहलाते हैं। जब भी हम कोई नया आॅब्जेक्ट बनाते हैं तो इन इन्सटैन्स मैम्बर्स की एक नई काॅपी बनती है तथा यह मैम्बर्स सिर्फ इसी आॅब्जेक्ट से संबंधित होते हैं। अन्य शब्दों में यह कहा जा सकता है कि किसी क्लास के जितने आॅब्जेक्ट बनाए जाएंगे, यह मैम्बर्स प्रत्येक आॅब्जेक्ट के लिए मेमोरी में पृथक स्थान लेंगे।

सुझाव / कमेंट